बॉलीवुड को इंडियन टूरिस्ट प्लेस पे शूटिंग करनी चाहिए ताकि इंडियन टूरिज्म को फ़ायदा हो

हम यदि इस्तिहस के पनो को पलट के देखे तो १९७५ के फिल्मो में साड़ी फिल्मे इंडियन टूरिस्ट प्लेस पर फिल्मायी जाती थी पर अब दस्तूर बदल चूका अभी फिल्मो को तभी ज्यादा अहमियत मिलती है जब वो बिदेशो में जाकर फिल्मायी गयी है पर ऐसा करने से कोई नुकसान नहीं ऐसा सभी सोचते है.
लेकिन आज मई आपको बताना चाहता हु की इंडियन गवर्नमेंट की कमाई के जरिये में से सबसे बड़ा जड़िये हम टूरिज्म को भी कह सकते। टूरिज्म को प्रमोट करने से हमें दो फायदे होते है पहला की हमे कुछ इंडियन टूरिस्ट तो मिलते ही जो हमारे देश के है और इसे टूरिज्म इंडियन से जुड़े लाखो परिवारों की इकॉनमी भी सुधरती है दूसरा फ़ायदा यह है की हमे फॉरेन के कुछ टूरिस्ट भी मिलते है जिनसे हमारे देश की इकॉनमी को लाभ मिलता है. 
जब बॉलीवुड के लोग बिदेशो में जाके शूटिंग करती है तो वह की गवर्नमेंट को परमिशन और टैक्स  के नाम पे ढेर सारा पैसा तो मिलता ही है और साथ ही ढेर साडी प्रमोशन भी मिल जाती है. इस लोकेशन से प्रवाभित होकर लाखो की संख्या में इंडियन टूरिस्ट फॉरेन जाते है जिससे फॉरेन इकॉनमी को लाभ मिलता है. ट्रेवल विशेषज्ञ की मने तो थाईलैंड के टूरिस्ट पॅकेजेस का इंडियन सबसे बड़ा उपभोगता यही नहीं अनगिनत ऐसे फॉरेन टूरिस्ट प्लेसेस है जहा भारत सबसे बड़ा उपभोगता है. 
जहा एक तरफ फॉरेन टूरिस्ट प्लेसेस की इकॉनमी हम बढ़ा रहे वही हमारे देश की टूरिस्ट प्लेसेस की इकॉनमी घाट रही है. आज के इस दौर में आप जिस किसी बॉलीवुड फिल्म को देखे वही आपको फॉरेन शूटिंग मिलेगी और ये बड़े गर्व की बाद मणि जाती है. 
क्योना आज से हम सब मिलके अपने देश की ट्रेवल इकॉनमी को डेवेलोप करने में लग जाये और सरे बॉलीवुड स्टार्स को भी ये मस्सगे दे की वो हमारे देश के टूरिस्ट प्लेसेस को प्रमोट करे. 
यदि मेरा ये सन्देश आपको अच्छा  लगा हो तो प्लीज कमेंट करे. 

Comments